प्याज के तेल के फायदे और नुकसान – Onion Oil

हेलो दोस्तों मेरा नाम मनीष है और आज के ब्लॉग में में आपको प्याज के तेल के फायदे और नुकसान ( pyaj ke tel ke fayde aur nuksan ): प्याज की ही तरह प्याज के तेल के फायदे और नुकसान भी कई होते हैं। प्याज (Onion) को खासकर खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। प्याज को कई प्रकार से उपयोग में लाया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्याज के मुकाबले प्याज के तेल (Onion Oil) को अधिक प्रभावशाली एवं स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है।

प्याज के तेल के फायदे और नुकसान (Advantages and disadvantages of Onion oil in hindi)

प्याज के तेल का इस्तेमाल स्वास्थ्य, त्वचा एवं बालों के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। हमने आपको अपने पुराने आर्टिकल में प्याज के फायदे एवं नुकसान और प्याज के रस के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी दी थी। आज हम आपको प्याज के तेल के उपयोग से होने वाले फायदे एवं उससे होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

अन्य भाषाओं में प्याज के नाम-

प्याज को संस्कृत में पलाण्डु (Palandoo), यवनेष्ट (Yavneshth) एवं  राजपलाण्डु (Rajpalandoo), गुजराती में डुङ्गरी (Dungali), तमिल में वेंगयम (Vengayam), बंगाली में पेयाज (Peyaj) एवं मराठी में कांदो (Kando) के नाम से जाना जाता है।

प्याज के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व-

प्याज के तेल में मुख्य रूप से विटामिन A, विटामिन B काम्प्लेक्स, विटामिन C, विटामिन E, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, मैंगनीज, फॉस्फोरस जिंक आदि जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।

प्याज के तेल के उपयोग का तरीका-

  • 1 गिलास हलके गुनगुने पानी में लगभग एक चौथाई चम्मच प्याज के तेल को मिलाकर उसका सेवन किया जा सकता है।
  • सलाद की ड्रेसिंग के लिए।
  • प्याज के एसेंशियल ऑयल को 1 चम्मच नारियल या सरसों के तेल में मिलाकर बालों पर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • 2-3 बूँद प्याज के तेल को 2 चम्मच नारियल के तेल में मिलाकर त्वचा पर इस्तेमाल किया जा सकता है। Benefits and side effects of onion oil in hindi.

प्याज के तेल के फायदे (Benefits of onion oil in hindi)

  • प्याज के तेल का इस्तेमाल करने से हृदय का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। एक शोध के अनुसार प्याज के तेल के उपयोग से हृदय संबंधी रोगों के खतरों को घटाया जा सकता है। प्याज के तेल का नियमित रूप से सेवन करने से हार्ट अटैक एवं स्ट्रोक के खतरों से बचाव करने में बहुत मदद मिलती है जिससे हृदय को स्वस्थ रखा जा सकता है।
  • प्याज के तेल का सेवन करने से हड्डियों का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। दरअसल, प्याज के तेल में फ्लेवोनॉइड एवं कैल्शियम की मात्रा पायी जाती है जिससे हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसके अलावा प्याज के तेल का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से हड्डियों के घनत्व को भी बढ़ाया जा सकता है जिससे हड्डियों से संबंधी बीमारियों के खतरों को कम किया जा सकता है।
  • प्याज के तेल का उपयोग करने से मधुमेह जैसी बीमारी के लक्षणों को घटाया जा सकता है। प्याज के तेल में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने का कार्य करते हैं जिससे मधुमेह के रोगियों को बहुत फायदा मिलता है। कई विशेषज्ञों द्वारा मधुमेह के रोगियों को प्याज के तेल का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।
  • प्याज के तेल के इस्तेमाल से लिवर एवं किडनी संबंधी विकारों से छुटकारा पाया जा सकता है। गलत खान-पान के चलते अक्सर किडनी एवं लिवर का स्वास्थ्य बिगड़ जाता है जिससे शरीर का पाचन तंत्र कमजोर हो सकता है। प्याज के तेल का सेवन करने से लिवर एवं किडनी की कार्य प्रणाली सुचारु रूप से कार्य करती है जिससे लिवर एवं किडनी का स्वास्थ्य बेहतर रहता है।
  • प्याज के तेल का इस्तेमाल करने से पेट का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। प्याज के तेल में एंटी-माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं जिससे पेट में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद मिलती है। प्याज के अर्क से तैयार प्याज के तेल का उपयोग करने से पेट संबंधी अन्य विकारों जैसे कब्ज, अपच एवं पेट में ऐंठन से भी छुटकारा पाया जा सकता है।
  • प्याज के तेल का उपयोग करने से बुखार की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। प्याज के तेल में सल्फर के यौगिक पाए जाते हैं जिससे विभिन्न प्रकार के बुखार की समस्या से राहत मिलती है। प्याज के तेल के उपयोग से मलेरिया जैसे घातक बुखार की समस्या को दूर करने में बहुत मदद मिलती है।
  • प्याज के तेल के इस्तेमाल से गठिया जैसी बीमारी के लक्षणों को कम करने में आसानी होती है। गठिया के दर्द में हड्डियों के जोड़ों में अत्यधिक दर्द की समस्या उत्पन्न हो जाती है। प्याज के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जिससे जोड़ों में दर्द की समस्या से राहत मिलती है। गठिया के रोगियों को प्याज के तेल के इस्तेमाल से बहुत फायदा मिल सकता है।
  • प्याज के तेल के इस्तेमाल से दांत दर्द, कान दर्द एवं सिरदर्द की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। एक शोध के अनुसार, प्याज के तेल में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जिससे कान दर्द, दांत दर्द एवं सिरदर्द की समस्या से बचाव करने में बहुत मदद मिलती है। इसके अलावा प्याज के तेल के इस्तेमाल से दांतों में होने वाली सड़न की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।
  • प्याज के तेल के इस्तेमाल से आंखों का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। आंख को शरीर का सबसे संवेदनशील अंग माना जाता है इसीलिए आंखों की देखभाल करना बहुत जरुरी होता है। प्याज के तेल में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण के प्रभाव से आंख संबंधी संक्रमण के खतरों से बचाव करने में बहुत मदद मिलती है।
  • प्याज के तेल का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से अनिद्रा की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। प्याज के तेल में फाइटोकेमिकल्स (Phytochemicals) की मात्रा पायी जाती है जिससे नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है। प्याज के तेल का रोजाना उपयोग करने से एक अच्छी एवं बेहतरीन नींद का अनुभव किया जा सकता है।
  • प्याज के तेल के इस्तेमाल से त्वचा संबंधी विकारों से छुटकारा पाया जा सकता है। एक शोध के अनुसार प्याज के तेल के उपयोग से त्वचा से दाग-धब्बे, कील-मुहांसे एवं डार्क सर्कल्स की समस्या से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा प्याज का तेल त्वचा की रंगत में सुधार करके त्वचा को नर्म एवं मुलायम बनाने का कार्य भी करता है।
  • प्याज के तेल के उपयोग से बालों का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। प्याज का तेल बालों में पोषक तत्वों की पूर्ती करता है जिससे बालों को भरपूर पोषण मिलता है। प्याज के तेल का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से बालों की जड़ों को मजबूती मिलती है जिससे बाल झड़ने की समस्या बचा जा सकता है। इसके अलावा प्याज का तेल बालों के घनत्व को भी बढ़ाता है जिससे बाल घने होते हैं।

जानें कलौंजी के फायदे बालों के लिए

  • प्याज के तेल के उपयोग से सफेद बालों की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है। प्याज के तेल में आयरन, कॉपर एवं कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा पायी जाती है जिससे समय से पहले सफेद हुए बालों की समस्या से बचा जा सकता है।

प्याज के तेल के नुकसान (Losses of onion oil in hindi)

  • प्याज के तेल का अधिक सेवन करने से लो ब्लड प्रेशर की समस्या उत्पन्न हो सकती है। ऐसे में ब्लड प्रेशर को कम करने की दवा का सेवन करने वाले व्यक्तियों को प्याज के तेल के उपयोग से बचना चाहिए।
  • प्याज के तेल के अत्यधिक इस्तेमाल से मानसिक कमजोरी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। प्याज के तेल में सेडेटिव हिप्नोटिक (Sedative-hypnotics) प्रभाव पाया जाता है जो नींद में सुधार करने के लिए जाना जाता है। इसमें मौजूद इसी प्रभाव के कारण मानसिक कमजोरी की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • प्याज के तेल का अधिक सेवन करने से रक्त में शुगर की मात्रा सामान्य से घट सकती है जिससे लो ब्लड शुगर की समस्या से गुजरना पड़ सकता है।
  • प्याज के तेल के तेल में तीखी महक होती है जिससे कुछ लोगों को एलर्जी की समस्या भी सकती है।

Hello, guys, we are Aakash & Manish and we are Reboarnteam, we are engineer by profession and we are working in different-different fields but for you guys we come here with our reviews and try to find your suitable product with specifications for you, we just want your support Peace ✌

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap